rashifal
Featured

12 राशि नाम की पूरी जानकारी -12 Rashi Name [2022]

4.7/5 - (7 votes)

आप अपने भविष्य को उज्जवल बनाना चाहते है और भविष्य को एक नयी दिशा देना चाहते है तो आपको अपनी राशि का ज्ञान होना अति आवश्यक है। राशि से आपका भविष्य ही नहीं अपितु वर्तमान और जो समय निकल गया है उसका भी पता लगाया जा सकता है।

ज्योतिष शास्त्रों में राशियों को एक विशेष जगह दी गई है, आप अपनी राशि के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी पाना चाहते है तो आपको इस पोस्ट के माध्यम से आपकी नाम की राशि से सम्बंधित सभी जानकारियाँ उपलब्ध करवाई गयी है।

वैदिक ज्योतिष में राशियों की संख्या 12 बताई गई है, आप अपना भविष्य फल जानना चाहते है तो उसके लिए सबसे पहले आपको यह जानना जरूरी होगा कि आपके नाम की राशि क्या है? राशि जानने के बाद ही आप अपना भविष्य फल देख पाएंगे।

Table of Contents

12 राशियों 2022 का भविष्यफल

वेदों के आधार पर राशि की संख्या 12 बताई गई है, एक राशि कई व्यक्तियों की हो सकती है परन्तु व्यक्ति का जन्म, तारीख, समय और स्थान अलग होने की वजह से उसकी राशि के गोचर में बदलाव आ सकते है। यह 12 राशियों का अपना क्रम होता है, जैसे की पहले मेष और वृषभ, फिर मिथुन, ऐसे ही बढ़ते क्रम में आखरी राशि मीन होती है।

12 naam ki rashi

वर्तमान में हर व्यक्ति अपने भविष्य को लेकर चिंतित रहता है या कहे परेशान रहता है कि उसका भविष्य कैसा होगा और वह किस लाइन में अपना भविष्य बना सकते है। इन सभी समस्याओं का समाधान आपको इस पोस्ट में मिल जाएगा।

आपके नाम की राशि से लेकर जो भी सवाल है उन सभी सवालो के उत्तर आपको इस पोस्ट में मिल जाएंगे।

12 राशियों का क्रम

  1. मेष
  2. वृषभ
  3. मिथुन
  4. कर्क
  5. सिंह
  6. कन्या
  7. तुला
  8. वृश्चिक
  9. धनु
  10. मकर
  11. कुम्भ
  12. मीन

राशि के नाम और अक्षर से भविष्यफल जाने

आपके नाम का पहला अक्षर ही आपकी राशि सुनिश्चित करता है, जैसे कि आपका नाम का पहला अक्षर ‘अ’ से है तो आपकी राशि ‘मेष’ होगी, और यदि पहला अक्षर ‘म’ से है तो आपकी राशि ‘सिंह’ होगी इस अनुसार आप की राशि का पता लगाया जा सकता है।

निचे लिस्ट में आपको हर अक्षर के नाम की राशि के बारे में बताया गया, जिससे आपको यह पता लगाने में आसानी होगी कि आपके नाम की राशि क्या है। राशियां जानने के बाद ही आप अपने राशि स्वामी और राशि दोष का पता लगा सकते है।

राशि अक्षर

मेष राशि – अ, ल, च
वृषभ राशि – ब, व, उ, ए
मिथुन राशि – क, छ, घ
कर्क राशि – ड, ह
सिंह राशि – म, ट
कन्या राशि – प, ठ, ण, ष

तुला राशि – र, त
वृश्चिक राशि – न, य
धनु राशि – फ, ध, भ, ढ
मकर राशि – ख, ज
कुंभ राशि – ग, स, श
मीन राशि – द, च, झ, त्र, थ

आपके नाम की राशि क्या है?

आपके नाम के शुरुआती अक्षर से राशि का पता लगया जाता है, कि आपके नाम की राशि क्या होगी। मनुष्य के जीवन में राशि का उपयोग कई कार्यो में किया जाता है जैसे कि नामकरण संस्कार, विवाह में गुण मिलान, ग्रह स्वामी, ग्रह दोष जानने के लिए, बिजनेस मार्गदर्शन आदि के लिए। इसके लिए हमें यह जानना अत्यंत जरूरी होगा की हमारी राशि क्या है।

राशियों के नाम अंग्रेजी में

  1. मेष राशि – Aries
  2. वृषभ राशि – Taurus
  3. मिथुन राशि – Gemini
  4. कर्क राशि – Cancer
  5. सिंह राशि – Leo
  6. कन्या राशि – Virgo
  7. तुला राशि – Libra
  8. वृश्चिक राशि – Scorpio
  9. धनु राशि – Sagittarius
  10. मकर राशि – Capricorn
  11. कुंभ राशि – Aquarius
  12. मीन राशि – Pisces

नीचे आपको सभी राशियों के बारे में बताया गया है इसके बाद आप अपने नाम के पहले अक्षर से अपना भविष्यफल देख सकते है।

A नाम की राशि (A Naam Ki Rashi) के व्यक्ति का भविष्यफल

आपके नाम का पहला अक्षर A है या शुरू होता है जैसे- अमन, अभिलाषा, आशुतोष, आदी तो आपकी राशि मेष होगी। अंग्रेजी में मेष राशि को Aries कहा जाता है। मेष राशि 12 राशियों के क्रम में सबसे पहले नंबर की राशि होती है। आप A अक्षर नाम के व्यक्ति है या आप की राशि मेष है, तो राशि के गुण, दोष एवं राशि स्वामी इस प्रकार होंगे।

अक्षर – A
राशि – मेष
राशि स्वामी – मंगल
नक्षत्र – मेष तारामंडल
राशि लग्न – मेष
राशि तत्व – अग्रि
राशि चिन्ह – भेड़
राशि दोष (क्षति ) – शुक्र

मेष राशि के जातक अत्यंत बुद्धिमान होते है। इनके मन में दुसरो के प्रति करुणा का भाव होता है। यह दयालु प्रवृत्ति के व्यक्ति होते है।

स्वभाव

इनका स्वभाव आकर्षित होता है, यह सभी को अपनी और आकर्षित कर लेते है। इनका राशि स्वामी मंगल होता है जो इनको ऊर्जा प्रदान करता है। यह दूसरों की मदद करने में भरोसा रखते है।

सम्पति

A अक्षर नाम के व्यक्ति प्रायः मेहनती होते है, यह अपनी मेहनत के बलबूते पर संपत्ति से परिपूर्ण होते है। इनके पास कभी धन का अभाव नहीं होता है।

घर परिवार और मित्र

यह एक संपन्न परिवार से होते है परिवार में इनका अपना रुतबा होता है, और बात आती है मित्रता की तो यह मिलनसार होते है इस वजह से इनके मित्रो की संख्या काफी होती है।

स्वास्थ्य

ऐसे तो यह बीमार नहीं होते परन्तु राशि दोष शुक्र होने की वजह से ये बीमार होते है तो लम्बे समय के लिए होते है।

विवाह योग्य

इनका विवाह समय से हो जाता है। राशि स्वामी मंगल होने की वजह से इनके विवाह में कोई भी अड़चने नहीं आती है।

प्रतियोगिता

यह बुद्धिमान होने के कारण सभी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करते है। इनमे गुण होता है कि वह कभी मेहनत करने में पीछे नहीं हटते हैं, इस नाम राशि के जातक मेहनती स्वभाव के होते।

M नाम की राशि (M Naam Ki Rashi) के व्यक्ति का भविष्यफल

अगर आपका नाम M से शुरू होता है या नाम का शुरुआती अक्षर M है तो आपकी राशि ‘सिंह’ है। सिंह राशि को अंग्रेजी में Leo कहा जाता है, यह 12 राशियों के क्रम में 5वें नंबर की राशि होती है।

अक्षर – M
राशि – सिंह
राशि स्वामी – सूर्य
नक्षत्र – सिंह
राशि लग्न – सिंह
राशि तत्व – अग्रि
राशि चिन्ह – सिंह
राशि दोष (क्षति ) – शनि

M अक्षर वाले व्यक्ति का राशि स्वामी सूर्य होता है तो यह सूर्य के समान तेजस्वी होते है और इसका राशि स्वामी सूर्य होता है जिस वजह से उनको गुस्सा अधिक आता है बिल्कुल सिंह के समान।

स्वभाव

इस नाम के व्यक्ति बहुत प्रभावशाली होते है, यह पहली बार मिलकर ही किसी को भी अपना बना लेते है। यह सरल स्वभाव के व्यक्ति होते है परन्तु यह हठी स्वभाव के भी होते है। M अक्षर के व्यक्ति प्रायः आलसी स्वभाव के होते है परंतु उनको अगर कोई चैलेंज दिया जाये तो यह जी जान लगा के उसे जीत ही लेंगे। इनका राशि लग्न सिंह होने की वजह से उनको गुस्सा अत्यधिक आता है।

सम्पति

इस नाम अक्षर के व्यक्ति हमेशा धन से परिपूर्ण होते है। इनके पास पैतृक संपत्ति होती है। M नाम राशि वाले व्यक्ति कभी भी पैसों को लेकर चिंतित नहीं होते और न ही कभी ये अपनी सम्पति गिनते है।

घर परिवार और मित्र

यह प्रायः छोटे परिवार में जीवन यापन करना पसंद करते है। इनके घर परिवार का प्रत्येक व्यक्ति सरल स्वभाव का होता है। इनके बहुत अधिक मित्र होते है, इनका हर कोई मित्र बनना चाहता है।

स्वास्थ्य

यह स्वास्थ्य को लेकर हमेशा परेशान रहते है। इनको पितृ संबंधित समस्या बनी रहती है। कई बीमारियां तो इनकी पैतृक होती है जो इन्हे अपने परिवार से मिलती है।

विवाह योग्य

इनका विवाह स्वामी प्रबल है जिस वजह से उनके विवाह में समय लगेगा, परन्तु उन्हें सुयोग्य जीवनसाथी प्राप्त होगा।

प्रतियोगिता

आप प्रतियोगिता परीक्षा का निरंतर प्रयास करें, क्योंकि आपकी राशि में सरकारी नौकरी पाने के योग्य बने है। आपकी परीक्षा में कई अड़चने आएगी, परन्तु आप सफल होंगे।

S नाम की राशि (Naam Ki Rashi) के व्यक्ति का भविष्यफल

यदि आपके नाम का पहला अक्षर S है या नाम S से शुरू होता है तो आपकी राशि ‘कुंभ’ है। कुंभ राशि को अंग्रेजी में Aquarius कहा जा है, जो कि 12 राशियों के क्रम में 11वें नंबर की राशि होती है। S नाम की राशि वाले जातक अपना भविष्य जानना चाहते है तो नीचे नाम की राशि के सभी गुण और दोष के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की गयी है।

अक्षर – S
राशि – कुंभ
राशि स्वामी – अरुण
नक्षत्र – कुम्भ तारामंडल
राशि लग्न – कुंभ
राशि तत्व – वायु जल
राशि दोष (क्षति ) – सूर्य देव

यह नाम राशि के व्यक्ति दूरदृष्टि रखने वाले होते है। S अक्षर की राशि ‘कुंभ’ होती है जिसका स्वामी ग्रह यूरेनस होता है जिसे हिन्दी में अरुण कहा जाता है। भारत में अरुण को देव का दर्जा दिया गया है। अरुण राशि स्वामी होने की वजह से इनमे दूरदर्शी गुणवत्ता होती है। यह भविष्य देख पाने में सक्षम होते है एवं जानते है कि अब से पांच या दस वर्ष में उन्हें क्या करना है।

स्वभाव

इस नाम राशि के व्यक्ति शर्मिले और शांत स्वभाव के होते है साथ ही कभी-कभी आक्रामक स्वभाव के भी हो जाते है। इनके विचारों में परिवर्तन होता रहता है, यह परिवर्तनशील विचारधारा के व्यक्ति होते है।

सम्पति

सम्पति की बात आती है, तो इस राशि के व्यक्ति के पास पैसे को खर्च करने और पैसे की बचत के बीच एक संतुलन बनाये रखने की कला है।

घर परिवार और मित्र

यह मिलनसार व्यक्ति होते है, यह अपने परिवार से लेकर रिश्तेदारों में भी व्यवहार बना के रखते है। इनके मित्रो की संख्या कम होती है।

स्वास्थ्य

इनका स्वास्थ्य ऐसे तो हमेशा अच्छा रहता है परन्तु उन्हें राशि दोष की वजह से कुछ कुछ समय अंतराल पर चर्म रोग होता रहता है।

विवाह योग्य

इस नाम जातक के व्यक्ति अरेंज मैरिज पर भरोसा नहीं रखते, इनकी भविष्य में लव मैरिज ही होनी है। S नाम राशि के व्यक्ति की शादी जल्दी ही हो जाती है।

प्रतियोगिता

चूकि इनका राशि स्वामी अरुण होता है तो यह पढ़ने में मध्यम वर्ग के होते है। अभिनय, लेखन, फोटोग्राफी या विमान संचालक के रूप में इन्हे अपना करियर बनाना चाहिए।

N नाम की राशि (N Naam Ki Rashi) के व्यक्ति का भविष्यफल

आपका नाम N से शुरू होता है, या आप के नाम का पहला अक्षर N है जैसे की नीलू, नितिन, नरेश, नेहा तो आपकी नाम राशि ‘वृश्चिक’ है। वृश्चिक राशि को अंग्रेजी में Scorpio कहते है। यह वृश्चिक राशि 12 राशियों के क्रम में 8वें नंबर की राशि है।

अक्षर – N
राशि – वृश्चिक
राशि स्वामी – मंगल
नक्षत्र – वृश्चिक तारामंडल
राशि चिन्ह -बिछु
राशि तत्व – जल
राशि दोष (क्षति ) – शुक्र

N नाम राशि के जातक अत्यंत प्रभावशाली व्यक्ति होते है। इनकी प्रतिष्ठा निराली होती है परन्तु उन्हें गुस्सा बहुत आता है जिस कारण यह अपना ही नुकसान कर बैठते है।

स्वभाव

इनका स्वभाव प्रभावशाली होता है यह हर किसी को अपने स्वभाव से प्रभावित करते है। परन्तु यह गुस्सैल प्रवृत्ति के होने की वजह से अपना मान सम्मान खुद ही खो देते है।

सम्पति

यह धन संपत्ति से परिपूर्ण होते है। इनके पास धन तो आता परन्तु पास रुकता नहीं है।

स्वास्थ्य

N नाम राशि जातक के व्यक्ति का स्वास्थ्य अधिकतर ख़राब ही रहता है। राशि दोष शुक्र होने की वजह से उनका मानसिक बीमारियां हो सकती है।

R नाम की राशि (R Naam Ki Rashi) के व्यक्ति का भविष्यफल

जिन व्यक्ति के नाम का पहला अक्षर R है, या जिनका नाम R से शुरू होता है जैसे की राम, राहुल, राधा,राजू, आदि उनकी नाम राशि ‘तुला’ होगी। तुला को अंग्रेजी में Libra कहते है। तुला राशि 12 राशियों के क्रम में 7वें नम्बर की राशि होती है।

अक्षर – R
राशि – तुला
राशि स्वामी – शुक्र
नक्षत्र – तुला तारामंडल
राशि चिन्ह -तराजू
राशि तत्व – जल
राशि दोष (क्षति) – बुध

R नाम राशि के जातक अत्यंत जुनूनी स्वभाव के होते है, यह किसी काम को करने की ठान ले तो उस कार्य को पूरा करके ही मानते है।

P नाम की राशि (P Naam Ki Rashi) के व्यक्ति का भविष्यफल

वे व्यक्ति जिनके नाम का शुरुआती अक्षर P है या जिनका नाम P शब्द से शुरू होता है जैसे की प्रेम, परिणीति, प्रज्ञा, प्रलब आदि तो आप के नाम की राशि ‘कन्या’ होगी। कन्या राशि को अंग्रेजी में Virgo कहते है। कन्या राशि 12 राशियों के क्रम 6वें नंबर की राशि है।

अक्षर – P
राशि – कन्या
राशि स्वामी – बुध
नक्षत्र – कन्या तारामंडल
राशि चिन्ह -अविवाहित लड़की
राशि तत्व – पृथ्वी
राशि दोष (क्षति ) – ब्राष्पित

P नाम राशि के व्यक्ति अत्यंत गुणवान व्यक्ति होते है इसमें कई गुणों का भंडार होता है। यह अपने लक्ष्य के प्रति केंद्रित होते है।

स्वभाव

यह नाम राशि के जतरक सरल स्वभाव के होते है। यह कम लोगो से ही बात करना पसंद करते हैं यह अपने में रहना पसंद करते है।

घर परिवार और मित्र

इनके परिवार में कम ही लोग होते है और सभी आपस में प्रेम से रहते है। मित्रता की बात की जाये तो यह कम ही मित्र रखते है परन्तु जितने भी मित्र रखते है उनके साथ घनिष्ठ मित्रता रखते है।

स्वास्थ्य

इनको राशि दोष की वजह से पेट सम्बंधित समस्या होती है। इसलिए इन्हे राशि दोष की पूजा करवानी चाहिए, ताकि उन्हें इस समस्या से छुटकारा मिल जायेगा।

V नाम की राशि (V Naam Ki Rashi) के व्यक्ति का भविष्यफल

अगर आपके नाम का पहला अक्षर V है या आप का नाम ‘व’ अक्षर से शुरू होता है जैसे कि विवेक, विनोद, विशाल, वीणा, वंश आदि तो आप के नाम की राशि वृषभ होगी। वृषभ राशि को अंग्रेजी में Taurus कहते है। वृषभ राशि 12 राशियों के क्रम में दूसरे नंबर की राशि होती है।

अक्षर – V
राशि – वृषभ
राशि स्वामी – शुक्र
नक्षत्र – वृषभ तारामंडल
राशि चिन्ह -सांड
राशि तत्व – पृथ्वी
राशि दोष (क्षति) – मंगल देवता

V नाम राशि जातक बहुत चतुर स्वभाव के होते है, यह किसी भी परेशानी से अपनी चतुराई का उपयोग कर निकल सकते है।

स्वभाव

इनका राशि चिन्ह सांड होने के कारण उनका स्वाभाव अड़ियल प्रवर्ति का होता है। इनका अड़ियल स्वभाव इनके लिए घातक हो सकता है।

घर परिवार और मित्र

अड़ियल स्वभाव के कारण इनकी घर के लोगों से भी नहीं बनती हैं, परन्तु यह मित्रता बखूबी से निभाते है, और अपने मित्र को कभी अकेला नहीं छोड़ते है।

विवाह योग्य

इस नाम राशि जातक को राशि दोष मंगल होने की वजह से इनकी शादी में बहुत विलम आते है इनको मंगल दोष की शांति करनी चाहिए।

धार्मिक कार्य

धार्मिक कार्य में इनकी रुचि अधिक होती है। यह इष्ट प्रिय होते है।

12 राशि के राशि स्वामी एवं राशि दोष जानिए

  • मेष – मंगल – शुक्र
  • वृषभ – शुक्र – मंगल
  • मिथुन – बुध – ब्राष्पित
  • कर्क – चन्द्रमा – शनि
  • सिंह – सूर्य – शनि
  • कन्या – बुध – ब्राष्पित
  • तुला – वरुण -शनि
  • वृश्चिक – मंगल – शुक्र
  • धनु – ब्राष्पित – बुध
  • मकर – शनि – चंद्र
  • कुम्भ – अरुण – सूर्य
  • मीन – वरुण – बुध

निष्कर्ष

राशि का आपके जीवन में अत्यधिक महत्व रखती है, राशि ज्ञात होने पर ही आप राशि गोचर, राशि दोष, राशि स्वामी आदि का पता लगा सकते है और जो भी दोष है राशि में उसकी शांति या कहे पूजा करवा के अपने जीवन को मंगलमय बना सकते है।

भविष्य में जो भी अड़चने या समस्या आती है वह राशि में ग्रह दोष की वजह से आती है हमे राशि ज्ञात हो तो ही हम इन सभी समस्याओं को समाधान निकाल सकते है। राशि जन्म नामकरण से लेकर विवाह सभी के लिए जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
DMCA.com Protection Status