बैंक अकाउंट कैसे खोलते है – दस्तावेज, खाता खोलने की प्रक्रिया।

4.2/5 - (11 votes)

वर्तमान में अधिकतर लोगों का बैंक में खाता होता है क्या आपका बैंक में खाता है, नहीं है तो इस लेख में हम आपको बैंक अकाउंट कैसे खोलते है की पूरी प्रोसेस एवं इसके लाभ आदि जानकारी प्रदान करेंगे। बैंक में खाता होना वर्तमान में सभी के लिए जरुरी हो गया है क्योंकि बैंक में खाता होने से कई फायदे मिलते है। इससे आप किसी को भी कभी भी ऑनलाइन पेमेंट कर सकते है, जरूरत पड़ने पर किसी को भी पैसे भेज सकते है।

अब बैंक खाता खोलने के आमतौर पर दो तरीके है; ऑनलाइन और ऑफलाइन। ऑफलाइन में कोई भी पास की शाखा में जाकर नया बैंक खाता खोलने के लिए आवेदन कर सकता है या ऑनलाइन खाता खुलवाने के लिए सीधे बैंक की वेबसाइट पर जा सकता है। अगर आपका भी बैंक में खाता नहीं है और आपको जानना है कि Bank Mein Khata Kaise Kholte Hain तो इस लेख में हम Bank Me Account Kaise Khole की पूरी प्रक्रिया विस्तार में बताएंगे।

bank me account kaise khole

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है

ऑफलाइन ब्रांच जाकर बैंक में खाता खुलवाने (सेविंग अकाउंट या करंट अकाउंट) के लिए आपको बैंक से प्राप्त आवेदन फॉर्म को भरना होता है जिसके लिए आपके पास बैंक द्वारा मांगे जाने वाले डाक्यूमेंट्स होना चाहिए। ये सभी डाक्यूमेंट्स फॉर्म के साथ संलग्न करके ब्रांच में जमा करने होते है। चलिए स्टेप बाय स्टेप Bank Me Khata Kaise Khole की पूरी प्रोसेस को समझते है:

  1. सबसे पहले निश्चित करें की आप कौन सा अकाउंट (सेविंग या करंट) खुलवाना चाहते है।
  2. अब आपको अपने नजदीकी ब्रांच जाकर बैंक खाता खोलने के लिए फॉर्म लेना होगा।
  3. बैंक में खाता खोलने के लिए यह फॉर्म ग्राहकों को निशुल्क प्रदान किया जाता है।
  4. अब आपको फॉर्म में मांगी महत्वपूर्ण जानकारियों जैसे- नाम, पता, व्यवसाय, खाते का प्रकार, नॉमिनी आदि को सही-सही सावधानी से भरना है।
  5. इसके बाद खाताधारक को बैंक के नियमों और शर्तों को पूरा करने के लिए 3-4 जगह पर हस्ताक्षर करने होते है।
  6. अब आपको बैंक द्वारा निर्धारित सभी जरुरी डाक्यूमेंट्स की एक-एक कॉपी को फॉर्म के साथ संलग्न करके ब्रांच अधिकारी के पास जमा करना है।
  7. इसके बाद ब्रांच अधिकारी फॉर्म में भरी गयी सभी जानकारियों और डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करेगा। अगर सब कुछ सही रहा तो उसके द्वारा आपको खाता खोलने की स्वीकृति प्रदान कर दी जाती है।
  8. यदि आप बैंक की अन्य सेवाओं जैसे- ATM, नेटबैंकिंग, चेक बुक आदि का लाभ लेना चाहते है तो फॉर्म भरते समय टिक कर दें।
  9. इस तरह से आपका बैंक में खाता खुल जायेगा।
  10. बैंक खाता खुलने के 24 के बाद आप अपनी पासबुक प्राप्त कर सकते है।

खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

बैंक में खाता खुलवाने के लिए आपको कुछ जरुरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, हालाँकि कुछ डाक्यूमेंट्स कुछ बैंक में भिन्न हो सकते है।

बैंक में खाते के प्रकार

भारतीय बैंक विभिन्न उद्देश्यों के लिए अलग-अलग प्रकार के खाते प्रदान किये जाते है, ताकि खाताधारक अपनी जमा राशि को सुरक्षित रखने के साथ ही उस पर लाभ भी प्राप्त कर सके। चाहे कोई व्यापारी, छात्र, वर्कर, या एक साझेदारी फर्म, या एक एनआरआई व्यक्ति हो, प्रत्येक के पास एक निश्चित खाता चुनने के लिए कई विकल्प है जिसमें बचत खाता, चालू खाता, सैलरी खाता और एनआरआई खाता आदि शामिल है।

चालू खाता (Current Account)

करंट अकाउंट जिसे हिंदी में चालू बैंक खाता कहा जाता है का उपयोग Saving Account के उद्देश्य से नहीं किया जाता है क्योंकि करंट खासकर व्यापारियों या बिज़नेस मेन द्वारा जाता है जो रोजाना हजारों या लाखों का लेन-देन करते है। सेविंग अकाउंट की तुलना में करंट अकाउंट से लेन-देन करने की कोई सीमा नहीं है, हालाँकि इस अकाउंट पर खाताधारक को कोई ब्याज नहीं दिया जाता है।

बचत खाता (Saving Account)

Saving Account वह अकाउंट होता है जिसे लाभार्थी द्वारा खासकर पैसा बचाने के उद्देश्य व्यक्तिगत रूप से या दो व्यक्तियों द्वारा संयुक्त रूप से खुलवाया जाता है। सेविंग अकाउंट में पैसा जमा करके 2 से 6% तक का ब्याज अर्जित किया जा सकता है ब्याज की दर सभी बैंकों में अलग-अलग हो सकती है। सेविंग अकाउंट खुलवाकर खाताधारक (Account Holder) अपने पैसों को सुरक्षित रूप से सेव कर सकते है और आवश्यकता पड़ने निकाल (Withdrawal) करवा सकते है।

क्रेडिट खाता (Credit Account)

Credit Account यानि खाता ऋण खाता वह खाता होता है, जिसे खुलवाने पर बैंक द्वारा खाता धारक (Account Holder) से ब्याज लिया जाता है, इस अकाउंट को खुलवाने के लिए अकाउंट होल्डर से सिक्यूरिटी (Security) के तौर पर कुछ अनिवार्य एवं आवश्यक डाक्यूमेंट्स मांगे जाते है इस अकाउंट का उपयोग करने की एक निश्चित समय सीमा निर्धारित की जाती है, तथा उस निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत खाताधारक जब चाहे लोन प्राप्त कर सकते है क्रेडिट अकाउंट कोई भी बिज़नेसमेन या व्यापारी, किसान या अन्य कोई व्यक्ति ऋण प्राप्त करने के लिए खुलवा सकता है।

सैलरी अकाउंट (Salary Account)

Salary Account एक तरह का बचत खाता (सेविंग अकाउंट) होता है, जिसमें खाताधारक जो किसी कंपनी में मासिक सैलरी प्राप्त करता है हर महीने एक निश्चित राशि ‘Salary’ के रूप में जमा करता है। सैलरी अकाउंट पर भी बैंक द्वारा जमा राशि पर ब्याज (Interest) दिया जाता है जो कि प्रत्येक में अलग-अलग हो सकता है।

सेविंग अकाउंट से Cash Withdrawal और Cash Transaction Limit कितनी है?

बैंक का नाम नकद निकालने की सीमा नकद लेन-देन की सीमा
RBL बैंक ₹ 50,000 से 1.5 लाख ₹ 10,000 से 3 लाख
Yes बैंक ₹ 25,000 से 1 लाख ₹ 1 से 3 लाख
कोटक महिंद्रा बैंक ₹ 40,000 से 2.5 लाख ₹ 50,000 से 4.5 लाख
लक्ष्मी विलास बैंक ₹ 10,000 से 1 लाख
इंडस बैंक ₹ 50,000 से 5 लाख ₹ 50,000 से 10 लाख
बंधन बैंक
HDFC बैंक ₹ 25,000 से 1 लाख ₹ 2.75 से 3.5 लाख
Axis बैंक ₹ 40,000 से 3 लाख ₹ 1 से 6 लाख

Conclusion

तो इस आर्टिकल के माध्यम से आपने जाना कि Bank Mein Khata Kaise Kholen (बैंक अकाउंट कैसे खोलते है)। उम्मीद करते है कि यहां आपको आपके सवाल बैंक में खाता कैसे खोलते है का जवाब मिल गया होगा। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूरी करें और इससे जुड़ी अन्य जानकारी पाने या आपका कोई सुझाव हो तो उसे आप हमे कमेंट के माध्यम से बता सकते है हम आपकी सहायता करने की पूरी कोशिश करेंगे।

ऐसी ही उपयोगी जानकारी पाने के लिए बने रहे हमारे साथ हिंदी दुनिया पर।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

  • बैंक अकाउंट कितने प्रकार के होते है?

विभिन्न प्रकार के बैंक खातों में बचत खाता (Savings Account), चालू खाता (Current Account), आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account), सावधि जमा खाता (Fixed Deposit Account), डीमैट खाता (DEMAT Account), एनआरआई खाता (NRI Account) आदि शामिल है।

  • भारत की टॉप 5 बैंक कौन सी है?

भारत की टॉप पांच बैंकों में SBI बैंक, ICICI बैंक, HDFC बैंक, Axis बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक आदि शामिल है।

  • बैंकों की बैंक किसे कहते है?

RBI (रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया) को भारत की बैंकों का बैंक कहते है।

     

मैं 27 वर्ष का सुमित गोविन्द राव, इलाहबाद विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में Ph.D. हूँ और मैने एक वरिष्ठ कॉलेज प्रोफेसर के रूप में 4 वर्ष से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली (IIT दिल्ली) में काम किया है। एक Ph.D. और प्रोफेसर होने के नाते, मैने दुनिया भर में शिक्षा, स्वास्थ, तकनीक और अन्य के बारे में लिखने के लिए हिंदी दुनिया वेबसाइट की शुरुआत की। Contact: [email protected]

Leave a Comment

error: Content is protected !!