Coronavirus Kya Hai? – जानिए कोरोनावायरस के लक्षण, कारण, इलाज व बचने के उपाय!

Coronavirus Kya Hai

Symptoms & Treatment Of Corona Virus: चीन में कोरोना वायरस ने दहशत फैला रखी है वहां पर अब तक कई लोग इससे संक्रमित व मौत के घाट उतर चुके है, जबकि कम से कम कई आस-पास के देश इसकी चपेट में आ चुके है। इसका खौफ चीन के बाहर भी भलीभांति देखा जा रहा है। बहुत लोगों को अभी भी यह सही से स्पष्ट नहीं है की Coronavirus Kya HaiCoronavirus Hone Ka Karan Kya Hai. परन्तु आज हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे है बस पोस्ट को शुरू से अंत तक जरूर पढ़े।

भारतीय लोगों में कोरोनावायरस कहर इतना फ़ैल गया है कि कई ने अपने चीन जाने की यात्रायें भी रद्द कर दी है। वैज्ञानिकों का कहना है कि पूरे एशिया में फैलने वाला नया घातक वायरस जितना कम समझा गया था यह उससे कहीं ज़्यादा संक्रामक है। जो भी व्यक्ति इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति को छूते है तो आप इस वायरस की चपेट में आ सकते है यह वायरस सिर्फ एक संक्रमित व्यक्ति के साधारण खांसी या छींक के साथ फैला सकता है।

Coronavirus Kya Hai

What is Covid-19 (कोविद -19 क्या है)

यह कोरोनोवायरस परिवार के एक सदस्य के कारण होता है जो पहले कभी सामने नहीं आया। अन्य कोरोनवीरस की तरह, यह जानवरों से आया है। शुरू में संक्रमित लोगों में से कई या तो काम करते थे या अक्सर चीनी शहर के केंद्र में स्थित हुआनान सीफूड होलसेल मार्केट में खरीदारी करते थे।

Coronavirus Ke Lakshan (कोरोनावायरस के लक्षण क्या है?)

इस वायरस के होने का कारण निमोनिया बन सकता है। जो लोग इस वायरस से संक्रमित हो गए है, उन्हें खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ जैसी होने की खबर है। इस वायरस से संक्रमित होने के होने के लक्षण (Coronavirus Symptoms) कम से कम 14 दिनों बाद दिखने शुरू होते है।

गंभीर मामलों में अंग विफलता (organ failure) हो सकती है। चूंकि यह वायरल निमोनिया है, इसलिए एंटीबायोटिक्स का कोई फायदा नहीं है। फ्लू के खिलाफ हमारे पास एंटीवायरल ड्रग्स काम नहीं करेंगे। इसमें संक्रमित की रिकवरी प्रतिरक्षा प्रणाली की ताकत पर निर्भर करती है। जो लोग मारे गए है उनमें से कई पहले से ही खराब स्वास्थ्य में थे।

Coronavirus Ka Ilaj (कोरोना वायरस का इलाज)

सूत्रों के मुताबिक अब तक कोरोना वायरस का कोई स्पष्ट इलाज नहीं मिला है। आपको बता दें कि एंटीबायोटिक दवाएं वायरस से लड़ने में सक्षम नहीं होती, इसलिए इनका उपयोग करना पूर्णतः व्यर्थ है। हालांकि, एंटीवायरल ड्रग्स काम में आ सकते है, परन्तु नए वायरस के बारे में समझने में और उनका हल ढूंढने में कई साल बीत जाते है।

कोरोना वायरस से छुटकारा पाने के लिए अभी तक कोई वैक्सीन भी उपलब्ध नहीं हुआ है। हालाँकि इस वायरस के इलाज के लिए वैक्सीन बनाने का काम वैज्ञानिक द्वारा जारी है। जैसे यह बनकर तैयार होगा इसे लोगों के लिए उपलब्ध करवाया जायेगा।

Coronavirus Kaise Failta Hai (कोरोना वायरस से कैसे बचा जाए?)

हमारे लिए यह जानना बहुत जरुरी है कि आखिर एक कोरोनावायरस कैसे फैलता है:

सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखे

social distancing for covid 19

जब किसी संक्रमित व्यक्ति के बात करने पर मुख से उड़ने वाली बूंदे आपके आंख, कान, नाक और मुख में प्रवेश कर जाती है। यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति को देखते है जो बीमार दिख रहा है, छींक रहा है या खांस रहा है तो उससे कम से कम 2 से 5 मीटर की दुरी बनाये रखे यह आपको संक्रमित होने से बचाये रखेगी।

मुख पर मास्क लगाएं

ऐसे को मास्क पहनने के लिए दें जो कोरोनावायरस से संक्रमित है इससे वह व्यक्ति इसे पहनकर खांस सकता है या छींक सकता है तथा इससे वह अपने आसपास के अन्य व्यक्तियों को सुरक्षित रख सकता है।

भीड़-भाड़ वाली स्थानों पर न जाए

संक्रमित होने से बचने का सबसे बेहतरीन तरीका है भीड़-भाड़ से दूर रहना क्योंकि आपका किसी भी संक्रमित व्यक्ति को पहचनना बहुत ही मुश्किल है। क्योंकि यह आवश्यक नहीं की जो व्यक्ति इस वायरस से संक्रमित है उसके कोई लक्षण दिखाई दे।

साबुन से हाथ बार-बार धोएं

इसके अलावा भी अन्य कई सारी परिस्थितियों में एक संक्रमित व्यक्ति से वायरस अन्य वस्तुओं में प्रवेश कर सकता है।

  • हाथों पर
  • दरवाजों के हत्तों पर
  • माउस
  • टिशू पेपर
  • लिफ्ट बटन पर
  • सीढ़ियों के हत्तों पर
  • पहने गए मास्क पर
  • डिजिटल वस्तुओं पर

सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें

यदि आप इनमे से कोई एक वस्तु भी धोखे से छू लेते है और फिर उन्हीं हाथों से अपने चेहरे को छूते है, आँखों को मलते है या बच्चों को दुलार करते है तो इससे वह सभी संक्रमित हो सकते है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसी भी वस्तु पर वायरस 48 घंटे तक जीवित रह सकता है ऐसी वस्तुओं को संक्रमित मुक्त बनाने का प्रभावी तरीका इन्हें साबुन से धोना या सेनेटाइज करना है।

Coronavirus Bachne Ke Upay

कोरोनावायरस से बचने के लिए आपका इन सावधानियों का अपनाया जाना फायदेमंद होगा:

  • यदि आप किसी संक्रमित वस्तु के संपर्क में आये है तो ऐसे में तुरंत अपने हाथों को साफ पानी और साबुन से अच्छे से धोएं
  • खांसते या छींकते समय रुमाल या टिशू पेपर का इस्तेमाल करे मास्क पहने तथा इस्तेमाल के बाद इन्हें डस्टबिन में डाल दें
  • जितना हो सके उतना बीमार व्यक्ति के सम्पर्क में आने से बचे तथा अपने तोलिये, बर्तन, कप व भोजन शेयर न करे
  • अपनी आंख, कान, नाक और कानों को बिना पानी व साबुन से बिना धोये छूने से बचे
  • यदि आप बीमार महसूस करे तो तुरंत अपने डॉक्टर दिखाएँ व उनका परामर्श ले

Coronavirus Ke Bare Mein Jankari

अगर मुझे खांसी है तो क्या मुझे डॉक्टर के पास जाना चाहिए?

यूके में, चिकित्सकों की सलाह यह है कि यदि आपने हाल ही में कोरोनोवायरस से प्रभावित क्षेत्रों से यात्रा की है, तो आपको यह करना चाहिए:

  • घर के अंदर रहें और फ्लू के साथ अन्य लोगों के संपर्क से बचें।
  • क्षेत्र में अपनी हाल की यात्रा की सूचना देने के लिए NHS 111 पर कॉल करें।
  • यदि आपको लगता है कि आप वायरस के संपर्क में आ गए हैं तो यहां क्या किया जा सकता है, इस पर अधिक NHS की सलाह, और यूके के नागरिकों के लिए पूर्ण यात्रा की सलाह यहां उपलब्ध है।

क्या वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल रहा है?

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मानव-से-मानव संचरण (human-to-human transmission) की पुष्टि की है, और इस तरह के transmission अन्य देशों में भी देखे गए गए है।

कितने लोग प्रभावित हुए है?

12 अप्रैल तक, वैश्विक स्तर पर प्रकोप ने 1.7 मिलियन से अधिक लोगों को प्रभावित किया है, जिसमें कुल मृत्यु 101,000 से अधिक है। मुख्य भूमि चीन में, 82,052 पुष्ट मामले, और 3,339 लोग मारे गए है। चीन के बाहर 125 से अधिक मौतें हुई हैं।

कोरोनावायरस लगभग 210 से अधिक अन्य देशों में फैल गया है। सबसे अधिक प्रभावित होने वाले देशों में दक्षिण कोरिया में लगभग 10,512 मामले और ईरान में 71,686 से अधिक मामले शामिल है।

UK में कोरोनावायरस के अब तक 90 दर्ज मामले है हालाँकि वहां कोई भी मौत की पुष्टि दर्ज नहीं हुई है।

क्या अन्य अन्य वायरस कोरोनवायरस के समान हुए है?

गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम (Sars) और मध्य पूर्वी श्वसन सिंड्रोम (Mers) दोनों ही कोरोनवायरस के कारण होते है जो जानवरों से आए थे। 2002 में, Sars ने लगभग 37 देशों में अनियंत्रित फैला गया था, जिससे वैश्विक दहशत पैदा हुई, इसने 8,000 से अधिक लोगों को संक्रमित किया और 750 से अधिक लोगों की मृत्यु हो गयी थी। Mers मानव से मानव के लिए आसानी से कम पारित होते दिखाई देते है, लेकिन यह अधिक घातक है, जिससे लगभग 2,500 लोगों में से 35% की मृत्यु हो जाती है। जो इससे संक्रमित हो गए है।

Conclusion

उम्मीद करते है कि आपको Coronavirus Kya Hai In HindiCoronavirus Kaise Hota Hai के बारे में सब कुछ अच्छे से समझ में आ गया होगा यदि इसके अलवा भी  आपको इसमें कोई परेशानी या आपके कोई सवाल हो तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है। हम कोशिश करेंगे की आपको आपके सवालों के जवाब जल्द से जल्द दें। Coronavirus Kya Hota Hai की जानकारी यदि आपको पसंद आयी हो तो इसे अन्य लोगों व अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर जरूर करे। ताकि अन्य लोगों को भी इसके बारे में पता चले और वे भी इससे सतर्क रहे, धन्यवाद!

Author: Sumit Rao

मैं 27 वर्ष का सुमित गोविन्द राव, इलाहबाद विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में Ph.D. हूँ और मैने एक वरिष्ठ कॉलेज प्रोफेसर के रूप में 4 वर्ष से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली (IIT दिल्ली) में काम किया है। एक Ph.D. और प्रोफेसर होने के नाते, मैने दुनिया भर में शिक्षा, स्वास्थ, तकनीक और अन्य के बारे में लिखने के लिए हिंदी दुनिया वेबसाइट की शुरुआत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *