Education

DTP Kya Hai और कैसे बने – सम्बंधित पूर्ण जानकारी।

4.7/5 - (12 votes)

क्या आपको पता है DTP Kya Hai एवं इसका उपयोग किस लिए किया जाता है तो आपको बता दें कि, DTP जिसे संक्षेप में Desktop Publishing (डेस्कटॉप पब्लिशिंग) कहा जाता है। यह एक Publishing Tool है जिसका वर्तमान में उपयोग प्रकाशन (Publishing) या Print Media में किया जाता है। इसकी मदद से हम डाक्यूमेंट्स, शादी के कार्ड्स, किताबें, कैटलॉग, न्यूज़ पेपर, ग्रीटिंग कार्ड, विजिटिंग कार्ड आदि को प्रिंट करवा सकते है।

हम सभी ने इस शब्द के बारे में कभी ना कभी तो सुना होगा, लेकिन इसके बारे में पूर्ण रूप से जानकारी नहीं होगी, के वास्तव में डीटीपी होता क्या है? डीटीपी ऑपरेटर कैसे बने, डीटीपी का उपयोग किस किस क्षेत्र में किया जाता है? आज हम आपको इस पोस्ट DTP Kya Hai in Hindi के माध्यम से डीटीपी से सम्बंधित सभी जानकारियाँ उपलब्ध करवाएंगे।

DTP Kya Hai

DTP का पूरा नाम डेस्कटॉप पब्लिशिंग है। यह प्रकाशन की एक नयी तकनीक हैं, जिसमे सॉफ्टवेयर या कई इलक्ट्रोनिक टूल्स की मदद से ग्राफ़िक्स का कार्य किया जाता है। प्रकाशन की इस टेक्नोलॉजी की शुरुआत जेम्स डेविस ने 1983 में की थी, तब से अब तक इसके रूपों में कई परिवर्तन हुए है। इस तकनीकी का उपयोग न्यूज़पेपर, केटलॉग, नेमप्लेट, बुक कवर, बैनर, मासिक पत्रिका, आवेदन पत्र, निमंत्रण पत्र, विज्ञापन आदि के लिए किया जाता है।

dtp operator kya hai

डीटीपी टेक्नोलॉजी का उपयोग वर्तमान में हर क्षेत्र में किया जाता है लेकिन उद्योग के क्षेत्र में इसका सर्वाधिक उपयोग किया जाता है। डीटीपी का कार्य करने के लिए मुख्य रूप से तीन सामग्री की आवश्यकता होती है –

  • डीटीपी सॉफ्टवेयर
  • PC (पर्सनल कम्प्यूटर)
  • लेजर प्रिंटर

DTP Full Form In Hindi

डीटीपी (DTP) का फुल फॉर्म – “Desktop Publishing” (डेस्कटॉप प्रकाशन) होता है।

D – Desk (टेबल या मेज)
T – Top (ऊपर)
P – Publishing (प्रकाशन या छपाई)

“मेज पर रखे कंप्यूटर या डेस्कटॉप की मदद से Publishing करना”।

डीटीपी ऑपरेटर कैसे बने

DTP का कार्य करने वाला व्यक्ति ही डीटीपी ऑपरेटर कहलाता है। डीटीपी ऑपरेटर बनने के लिए कोई विशेष डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है, आप 12वी बाद भी डीटीपी ऑपरेटर बन सकते है। इसके आलावा आप ने कोई डिग्री ले रखी है तो यह और भी अच्छा होगा, आप बड़ी-बड़ी कम्पनी को अपनी सेवा दे सकते है।

शैक्षणिक योग्यता

  • न्यूनतम योग्यता 10वी कक्षा पास।
  • कम्प्यूटर का ज्ञान होना चाहिए।
  • हिन्दी और अंग्रेजी भाषा की जानकारी।

आयु सीमा

  • न्यूनतम आयु 18 होना चाहिए।
  • अधिकतम आयु 25 से 40 वर्ष।

डीटीपी ऑपरेटर बनने के लिए –

विभाग  विज्ञापन और प्रकाशन 
फुल फॉर्म डेस्कटॉप पब्लिशिंग
योग्यता  10+2 पास 
प्रारंभिक वेतन  2-3 लाख रुपये वार्षिक
नौकरिया क्षेत्र  डेस्कटॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर, डेस्कटॉप पब्लिशिंग डिजाइनर, ग्राफ़िक डिजाइनर आदि। 

DTP Course

डीटीपी कोर्स को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से किया जा सकता है। DTP में कई प्रकार के कोर्स होते है, स्टूडेंट अपनी रूचि के अनुसार कोर्स का चुनाव कर सकते है। इन कोर्स में आप को कंप्यूटर सॉफ्टवेयर द्वारा ग्राफिक डिजाइनिंग का कार्य करना सिखाया जाता है।

डीटीपी कोर्स के प्रकार

डेस्कटॉप का प्रकाशन

यह एक बेसिक पाठ्यक्रम होता है। दूसरे शब्दों में कहे तो यह एक परिचयात्मक पाठ्यक्रम होता है। डेस्कटॉप प्रकाशन के इस क्षेत्र में बेसिक समझ प्रदान की जाती है। इसके अलावा इसमें डिज़ाइनिंग, वर्ड प्रोसेसिंग उपकरणों का उपयोग करना सिखाया जाता है।

ग्राफिक संचार

इस कोर्स में मुख्य रूप से संचार के साधनों में डिजाइन की रणनीतियों को लागू करने के लिए उपकरणों का उपयोग करना सिखाया जाता है।

टेक्नोलॉजी ऑफ़ प्रिटिंग

प्रिटिंग तकनीक में प्रिंटिंग की विधि डेस्कटॉप प्रकाशन का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिसमे छात्रों को लेआउट, डिजाइन, असेम्ब्लिंग इमेज, ग्राफ़िक से प्रोजेक्ट तैयार करना सिखाते है।

डिजिटल इमेजिंग

इस पाठ्यक्रम में Picture’s को बनाने या कुछ Pictures को एडिट करना और पूर्ण रूप से तैयार करने के लिए फोटोशॉप का उपयोग करना सिखाया जाता है। सरल शब्दों में कहे तो इसमें इमेज में चेंजेस करके छवि का Filter या Edit करना बताया जाता है।

डिजाइन और लेआउट

इसमें इमेज चुनने से लेकर किस रंग का उपयोग करना चाहिए आदि कार्य आता है। इस कोर्स में डिजाइन और लेआउट से सम्बंधित सम्पूर्ण प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है।

मीडिया और इंटरएक्टिव डिजाइन

इस पाठ्यक्रम में छात्रों को यूजर इंटरफ़ेस (यूआई) के डिजाइन के साथ उसके व्यवहार और पैटर्न के बारे प्रशिक्षण दिया जाता हैं।

डीटीपी ऑपरेटर के कार्य

  1. डीटीपी ऑपरेटर डेस्कटॉप पब्लिशिंग कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर की सहायता से ग्राफ़िस डिजाइन करता है।
  2. न्यूज़पेप्पर और मैगजीन भी इस के द्वारा तैयार की जाती हैं।
  3. विभिन्न प्रकार के पोस्टर बैनर भी इसकी सहायता से बनाये जाते है।
  4. कई तरह के विज्ञापनों को भी इसके द्वारा बनाया जाता है।
  5. कंपनी के Logos को बनाना।
  6. वेबसाइट को अलग-अलग फॉर्मेट में बदलने के लिए भी इस का उपयोग किया जाता है।
  7. इसमें ग्राफिक के लेआउट और शेप को भी बनाया जाता है।
  8. फॉर्मेटिंग करना तथा डॉक्यूमेंट तैयार भी इसमें किए जाते हैं।

डीटीपी ऑपरेटर के प्रकार

वेब डिज़ाइनर

वेब डिजाइन वेबसाइट के सम्पूर्ण स्वरूपों को बनाने का कार्य करता है। यह वेबसाइट या वेब पेजो की मूल डिजाइन, लेआउट, टेक्स्ट स्टाइल जैसी प्रोसेस को करता है।

ग्राफ़िक्स डिजाइनर

ग्राफिक डिजाइनर DTP ऑपरेटर के सॉफ्टवेयर से ग्राफिक के प्रकाशन और निर्माण का बारीकी से काम करता है। यह मैनुअल, पत्रिकाएं, कैटलॉग, ब्रोशर, बैनर, पोस्टर आदि को भी बनाने का कार्य करते है।

फॉन्ट डिजाइनर

विशेष वेबसाइट, समाचारपत्रों, रिज्यूम तैयार करने के लिए फॉन्ट डिजाइनर की आवश्यकता होती है। यह क्लाइंट की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए फ़ॉन्ट डिज़ाइनर मौजूदा Font को संशोधित करते है या नए Font बनाते है।

डेस्कटॉप पब्लिशर

डेस्कटॉप प्रकाशक विभिन्न प्रकार के डॉक्यूमेंट तैयार करने के लिए प्रकाशन सॉफ्टवेयर का काम करते है जैसे- किताबें, समाचार पत्र, वित्तीय रिपोर्ट, व्यवसाय कार्ड इत्यादि।

DTP के लिए उपयोगी सॉफ्टवेयर

इंटरनेट पर डीटीपी के लिए आपको कई प्रकार सॉफ्टवेयर मिल जायेंगे, जिनका उपयोग करके आप विभिन्न तरह के Publishing के कार्य को कर सकते है। निचे आपको कुछ लोकप्रिय डीटीपी सॉफ्टवेयर की लिस्ट प्रदान की गयी है।

  1. Adobe InDesign
  2. Microsoft Publisher
  3. Scribus
  4. QuarkXPress
  5. Adobe Photoshop
  6. Adobe Flash
  7. Corel Draw
  8. Microsoft Office PowerPoint

Adobe InDesign

adobe indesing सॉफ्टवेयर का उपयोग डीटीपी कार्य के लिए किया जाता है। इसका उपयोग मैगजीन, पोस्टर, ब्रोशर, पत्रिकाओं, न्यूज़ पेपर, बुक्स को बनाने के लिए किया जा सकता है।

Microsoft Publisher

माइक्रोसॉफ्ट प्रकाशन सॉफ्टवेयर डेस्कटॉप प्रकाशन के कार्य करने में सहायक है। इसका उपयोग लेआउट, बॉडर और किसी भी उद्देश्य के लिए विशेष डिजाइन तैयार की जा सकती है।

Scribus

Scribus सॉफ्टवेयर का उपयोग डीटीपी कार्य के लिए किया जा सकता है, परन्तु यह सॉफ्टवेयर Adobe Indesign की तुलना में अधिक कठिन है।

QuarkXPress

डिजिटल प्रकाशन के क्षेत्र में इस सॉफ्टवेयर की अहम भूमिका है। व्यवसाय के क्षेत्र में इस सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है।

Conclusion

तो पाठकों हम उम्मीद करते है आज के इस लेख के माध्यम से आपने समझा होगा की डीटीपी कैसे बने और इसके सभी अहम् पहलु के बारे में भी जाना होगा जैसे की इनके कार्य, इसका सिलबस या इसके लिए उपयोग में कोनसे सॉफ्टवेयर उपयोग में आते है।

अगर इसके बाद भी हम किसी विषय को त्रुटिवश भूल गए हो तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर हमे अवश्य याद दिलाये जिससे आने वाले पाठकों को भी वह जानकारी प्र[प्राप्त हो सके और हमारे इस लेख को लिखने का उद्देश्य पूर्ण हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
DMCA.com Protection Status