GDP Kya Hai
Know About It

GDP Kya Hai – जाने जीडीपी से जुड़ी पूरी जानकारी हिंदी में।

GDP Kya Hai: GDP (सकल घरेलू उत्पाद) एक विशिष्ट समय अवधि में किसी देश की सीमाओं में उत्पादित सभी तैयार वस्तुओं और सेवाओं का कुल मौद्रिक या बाजार मूल्य है। जीडीपी किसी देश की अंतराष्ट्रीय स्तर पर अर्थव्यवस्था को निर्धारित करती है। देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में GDP का महत्वपूर्ण योगदान होता है। अगर देश की GDP मजबूत होगी तो उस देश की अर्थव्यवस्था भी मजबूत होती है।

GDP Kya Hai

GDP Kya Hai

अपने देश की सीमा में उत्पादित सभी वस्तुओं के मूल्य के योग को GDP कहते है। यह जरूरी नहीं की देश में वस्तु का उत्पादन विदेशों द्वारा हो या स्वदेशी द्वारा हो। यह किसी भी देश में कुल उत्पादन को मापने का कार्य करती है। जीडीपी के अंतर्गत किसी देश में एक साल में जितना उत्पादन हुआ है और साथ ही सेवा का कितना उपभोग किया गया है, दोनों की गणना की जाती है। आमतौर पर GDP की गणना वार्षिक आधार पर की जाती है पर इसके अलावा इसकी गणना तिमाही आधार पर भी की जा सकती है।

GDP Full Form In Hindi

जीडीपी (GDP) का फुल फॉर्म ‘Gross Domestic Product’ है जिसे हिंदी में ‘सकल घरेलू उत्पाद’ के नाम से जाना जाता है।

GDP की गणना कैसे करते है

सकल घरेलू उत्पाद (GDP) = उपभोग (Consumption) + सरकारी खर्च (Government Spending) + कुल निवेश (Gross Investment) + सरकारी खर्च (Government Spending) + [निर्यात (Imports) – आयात (Exports)]

“GDP = C + I + G + (X − M)”

उपभोग (Consumption) – उपभोग को एक परिवार द्वारा वस्तुओं और सेवाओं के उपयोग के रूप में परिभाषित किया गया है। जिसमें घरेलू खर्च जैसे- किराया, भोजन, चिकित्सा खर्च शामिल होते है।

कुल निवेश (Gross Investment) – यह व्यवसायों द्वारा देश की सीमा के भीतर वस्तुओं और सेवाओं पर किया जाना वाला खर्च है।

सरकारी खर्च (Government Spending) – इसमें सरकारी द्वारा किये जाने सभी प्रकार के खर्च शामिल होते है जैसे- सरकारी कर्मचारियों का वेतन, सेना के लिए हथियारों की खरीद और सरकार द्वारा किया गया कोई भी निवेश आदि शामिल है।

निर्यात (Imports) – इसमें अन्य देशों के उपभोग के लिए उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं को शामिल किया जाता है, इसलिए निर्यात को जीडीपी में जोड़ा जाता है।

आयात (Exports) – इसमें दूसरे देशों से आयात की गई वस्तुएँ और सेवाएं शामिल होती है, इसलिए आयात को GDP में से घटाया जाता है।

NDP (Net Domestic Product)

जब हम जीडीपी में से मशीनों के हास् (Depreciation) को घटा देते है तो हमें NDP (शुद्ध घरेलु उत्पाद) प्राप्त होता है।

GNP (Gross National Product)

देश के नागरिकों द्वारा उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य का योग GNP कहलाता है। फिर चाहे वह भारतीयों द्वारा हो या विदेशों में अर्जित हो आय हो। विदेशों में भारतीयों द्वारा अर्जित आय को जोड़ेंगे (+) और विदेशियों द्वारा भारत में अर्जित आय को घटाएंगे।

NNP (Net National Product)

GNP में से मूल्य हास् (Depreciation) को घटा देते है तो एनएनपी प्राप्त होता है। एनएनपी की तुलना हम बाजार मूल्य से करते है उसमें से हम अप्रत्यक्ष कर को घटा (-) और सब्सिडी को जोड़ (+) लेते है इसे ही हम राष्ट्रीय आय कहते है।

प्रति व्यक्ति आय

जब हम राष्ट्रीय आय में से कुल जनसंख्या का भाग देते है तो हमें प्रति व्यक्ति आय मिल जाती है। गोवा की प्रति व्यक्ति आय सबसे अधिक है जबकि बिहार के प्रति व्यक्ति आय सबसे कम है।

सारांश

एक मजबूत अर्थव्यवस्था और एक बेहतरीन GDP से न केवल देश मजबूत होता है बल्कि उस देश जनता भी खुश और लाभान्वित रहती है। प्रत्येक देश यही चाहता है कि उसके देश की GDP बेहतर बनी रहे, इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते है हुए अगले कुछ वर्षो में भारत सरकार का लक्ष्य दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनना है। उम्मीद करते है कि GDP क्या है (What Is GDP In Hindi) की जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपको अपने सभी सवालों के जवाब यहां प्राप्त हुए होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status