GNM Course Details in Hindi – जीएनएम क्या है और कैसे करें।

4.6/5 - (8 votes)

GNM Course Details in Hindi “जनरल नर्सिंग मिडवाइफरी” नर्सिंग क्षेत्र में एक 3.5 वर्षीय डिप्लोमा कोर्स है, जिसमें 6 माह की ट्रेनिंग भी शामिल है। जो भी विद्यार्थी चिकित्सा क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है और जन समुदाय की सेवा में अपना योगदान देना चाहते है, उनके लिए जीएनएम कोर्स एक बेहतर विकल्प है। इस कोर्स में आपको मरीजों की देखभाल करना, डॉक्टरों द्वारा बताए गए समय पर मरीजों को दवाई देना, ड्रिप लगाना, बीमार और घायलों की देखभाल, नवजात शिशुओं की देखभाल आदि कार्यों के बारे में सिखाया जाता है।

आज इस आर्टिकल ‘G N M Course Details in Hindi’ में आपको GNM कोर्स से जुड़ी पूरी जानकारी विस्तार से बताई गई है, जैसे- GNM Kya Hota Hai, GNM का फुलफॉर्म, GNM कोर्स के लिए योग्यता, जीएनएम कोर्स फीस (GNM Course Fees), GNM के बाद जॉब आदि।

जीएनएम (GNM) क्या है | GNM Course Details in Hindi

GNM जिसे संक्षिप्त में “जनरल नर्सिंग मिडवाइफरी” भी कहा जाता है, चिकित्सा के क्षेत्र में किया जाने वाला एक नर्सिंग डिप्लोमा कोर्स है। अभ्यार्थी किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण कर लेने के बाद जीएनएम पाठ्यक्रम में दाखिला ले सकते है। इस कोर्स को पूर्ण करने की कुल अवधि 3.5 वर्ष है, जिसमें 3 वर्ष की शिक्षा और 6 माह की आवश्यक इंटर्नशिप होती है। 3 वर्ष के पाठ्यक्रम में आपको शारीरिक रचना, मनोविज्ञान, बाल स्वास्थ्य, नर्सिंग से जुड़ी मूल बातें, प्राथमिक चिकित्सा संबंधी जानकारी, व्यक्तिगत स्वच्छता, जन-समुदाय की सेवाओं के बारे में अध्ययन कराया जाता है। साथ ही 6 माह अस्पतालों या नर्सिंग होम में प्रशिक्षण दिया जाता है।

जीएनएम कोर्स की कुछ महत्वपूर्ण बातें निम्न प्रकार है।

कोर्स का नाम जीएनएम (GNM)
संक्षिप्त नाम जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (General Nursing Midwifery)
कोर्स स्तर डिप्लोमा कोर्स
कोर्स अवधि 3।5 वर्ष
परीक्षा प्रकार सेमेस्टर
शैक्षणिक योग्यता विज्ञान विषय से 10+2,

न्यूनतम 50% अंक

चयन प्रक्रिया राज्य स्तर की प्रवेश परीक्षा
फीस 30,000 से 2.5 लाख रुपये
जॉब सरकारी और निजी अस्पताल, नर्सिंग होम आदि

क्या आपने इसे पढ़ा: Doctor Kaise Bane – MBBS डॉक्टर बनने के लिए प्रवेश प्रक्रिया।

GNM Ke Liye Qualification

जीएनएम कोर्स में दाखिला लेने के लिए उम्मीदवारों के पास कुछ आवश्यक योग्यताएं होना जरूरी है, निचे आपको जीएनएम के लिए योग्यता (GNM Course Eligibility) बताई गई है जिन्हें हर उम्मीदवार को पूरा करना अनिवार्य है।

शैक्षणिक योग्यता

  • जीएनएम में प्रवेश लेने के लिए छात्र-छात्राओं का किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • अभ्यार्थी ने विज्ञान विषय से अपनी 11वीं और 12वीं कक्षा को उत्तीर्ण किया हों।
  • उम्मीदवार के विज्ञान विषय में PCB (भौतिकी, रसायन विज्ञान और बायोलॉजी) होना चाहिए।
  • कक्षा 12वी में उम्मीदवार के कम से कम 50% अंक होना चाहिए।

आयु सीमा

  • जीएनएम कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष होना चाहिए।

जीएनएम में प्रवेश प्रक्रिया

बारहवीं कक्षा विज्ञान विषय (भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान) से पास होने के बाद विद्यार्थी जीएनएम पाठ्यक्रम में प्रवेश ले सकते है। ज्यादातर कॉलेजों में कक्षा बारहवीं के अंकों के आधार पर जीएनएम में प्रवेश दिया जाता है। कॉलेज या इंस्टिट्यूट द्वारा विद्यार्थियों के अंकों के आधार पर एक अपनी मेरिट सूची जारी की जाती है। जो भी विद्यार्थी जीएनएम में सीधा प्रवेश लेना चाहते है, उन्हें यह कॉलेज द्वारा जारी कटऑफ के बराबर या उससे अधिक अंक प्राप्त करने होते है।

भारत में कुछ संस्थान राज्य सरकार द्वारा आयोजित की जाने वाली नर्सिंग प्रवेश परीक्षा द्वारा भी जीएनएम कोर्स में प्रवेश देते है। वहीं कुछ संस्थान अपने स्वयं की प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करते है, जो छात्र-छात्राएँ इस परीक्षा में पास होते है वही जीएनएम कोर्स में प्रवेश पा सकेंगे।

इसे भी पढ़े: पीएचडी क्या हैं? PHD Full Form, इसकी तैयारी व योग्यता

जीएनएम प्रवेश परीक्षा

भारत में होने वाली कुछ जीएनएम कोर्स में प्रवेश परीक्षा नीचे बताई गई है।

  • जिपमर नर्सिंग प्रवेश परीक्षा (JIPMER Nursing Entrance Exam)
  • पीजीआईएमईआर नर्सिंग प्रवेश परीक्षा (PGIMER Nursing Entrance Exam)
  • एम्स नर्सिंग प्रवेश परीक्षा (AIIMS Nursing Entrance Exam)
  • बीएचयू नर्सिंग प्रवेश परीक्षा (BHU Nursing Entrance Exam)
  • एमजीएम सीईटी नर्सिंग (MGM CET Nursing Entrance Exam)
  • आरयूएचएस नर्सिंग प्रवेश परीक्षा (RUHS Nursing Entrance Exam)
  • इग्नू ओपन नेट (IGNOU Nursing Entrance Exam)

जीएनएम कोर्स सिलेबस इन हिंदी

जीएनएम (जनरल नर्सिंग मिडवाइफरी) कोर्स 3.5 वर्ष का होता है, जिसमें 3 साल का शिक्षण और 6 माह की इंटरशिप करना अनिवार्य है। 3 साल पढाए जाने वाले सिलेबस में आपको इन विषयों को पढ़ना होता है।

आईये आपको जीएनएम में कितने सब्जेक्ट होते हैं (GNM Me Kitne Subject Hote Hai) इस बारे में बताते है –

पहला वर्ष

  • शरीर रचना विज्ञान और शरीर विज्ञान (Anatomy And Physiology)
  • कीटाणु-विज्ञान (Microbiology)
  • नर्सिंग की मूल बातें (Fundamentals Of Nursing)
  • प्राथमिक चिकित्सा (First Aid)
  • सामुदायिक स्वास्थ्य और सेवाएं (Community Health And Services)
  • स्वास्थ्य शिक्षा (Health Education)
  • पोषण (Nutrition)
  • व्यक्तिगत और पर्यावरणीय स्वच्छता (Personal And Environmental Hygiene)
  • मनोविज्ञान (Psychology)
  • समाज शास्त्र (Sociology)

दूसरा वर्ष

  • मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग (Medical Surgical Nursing)
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां (Co-curricular Activities)
  • मानसिक स्वास्थ्य और मनोरोग नर्सिंग (Mental Health And Psychiatric Nursing)
  • बाल स्वास्थ्य नर्सिंग (Child Health Nursing )

तीसरा वर्ष

  • एडवांस कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग (Advance community Health Nursing)
  • दाई का काम और स्त्री रोग (Midwifery and Genecology)
  • प्रशासन और वार्ड प्रबंधन (Administration and Ward Management)
  • अनुसंधान का परिचय (Introduction to Research)
  • स्वास्थ्य अर्थशास्त्र (Health Economics)
  • व्यावसायिक रुझान और समायोजन (Professional Trends and Adjustment)
  • बाल रोग नर्सिंग (Pediatrics Nursing)

चौथा वर्ष

3 साल पढ़ने के बाद 6 माह की अनिवार्य रूप से इंटर्नशिप करना होता हैं। जिसमें आपको मरीजों की देखभाल करना, नर्सिंग का अभ्यास आदि कार्य सिखाए जाते हैं।

GNM Kitne Saal Ka Hota Hai

आमतौर पर GNM कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है तथा जिसमें 6 महीने की अनिवार्य इंटर्नशिप भी शामिल है जो छात्रों को नर्सिंग के क्षेत्र में प्रैक्टिकल ज्ञान हासिल करने में मदद करता है।

जीएनएम कोर्स की फीस (GNM Course Fees)

GNM कोर्स के लिए सभी संस्थानों की फीस अलग-अलग होती है। जीएनएम कोर्स की फीस लगभग 30,000 से 2.5 लाख तक होती है। सरकारी कॉलेजों की फीस प्राइवेट कॉलेजों से कम होती है। परंतु सरकारी संस्थान में प्रवेश के लिए आपको राज्य सरकार द्वारा आयोजित या स्वयं कॉलेज द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा पास करना होता है, तभी आप अच्छे सरकारी संस्थान में प्रवेश पा सकते है।

जीएनएम कोर्स के लिए संस्थान

भारत में जीएनएम कोर्स के लिए बहुत से संस्थान है, जहां से आप जीएनएम का कोर्स कर सकते है। निचे आपको कुछ लोकप्रिय कॉलेज एवं इंस्टिट्यूट के नाम दिए गए है।

  • इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (पटना)
  • शारदा विश्वविद्यालय (ग्रेटर नोएडा)
  • स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (कोलकाता)
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (अलीगढ़)
  • निम्स विश्वविद्यालय (जयपुर)
  • रविद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय (भोपाल)
  • महाराजा आयुर्विज्ञान संस्थान (विजयनगरम)
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज (वेल्लोर)

पढ़ना न भूले: NEET Kya Hai – नीट का फुल फॉर्म, योग्यता, सिलेबस।

जीएनएम कोर्स के बाद जॉब

GNM कोर्स करने के बाद आप विभिन्न जगहों में नौकरी कर सकते हैं। जिनमें से कुछ नीचे दिए गए है।

  • सरकारी स्वास्थ्य केंद्र
  • ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्र
  • गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ)
  • निजी अस्पतालों
  • क्लीनिक
  • वृद्धाश्रम
  • अनाथाश्रम
  • नर्सिंग होम
  • सरकारी/निजी औषधालय
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों

जीएनएम कोर्स सैलरी

भारत में जीएनएम नर्स का वेतन ₹1 लाख से ₹12.8 लाख के बीच है जो कि एक फ्रेशर नर्स से लेकर अनुभवी नर्स के लिए है, वहीं एक जीएनएम नर्स का औसत वार्षिक वेतन ₹2.0 लाख है।

जॉब प्रोफाइल्स औसत वार्षिक सैलरी
लीगल कंसल्टिंग नर्स ₹ 5.30-6 लाख
टीचर ₹ 9.13-9।75 लाख
फॉरेंसिक नर्स ₹ 4.94-5।30 लाख
क्लीनिकल/हॉस्पिटल नर्स ₹ 4.50-5 लाख
होम नर्स ₹ 2.37-3 लाख

निष्कर्ष

आज मैंने अपको इस लेख GNM Course Details in Hindi में जीएनएम कोर्स यानि जनरल नर्सिंग मिडवाइफरी जो मेडिकल फील्ड में एक डिप्लोमा कोर्स के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी, जिसमें जीएनएम क्या है, जीएनएम के लिए सिलेक्शन प्रोसेस, GNM Ki Fees Kitni Hai, जीएनएम के लिए सिलेबस, जीएनएम कोर्स कितने साल का है आदि शामिल है। अगर आपको यह लेख उपयोगी लगा एवं पसंद आया हों तो इसे आपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें, ताकि उन्हें भी यह महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके।

     

मैं 27 वर्ष का सुमित गोविन्द राव, इलाहबाद विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में Ph.D. हूँ और मैने एक वरिष्ठ कॉलेज प्रोफेसर के रूप में 4 वर्ष से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली (IIT दिल्ली) में काम किया है। एक Ph.D. और प्रोफेसर होने के नाते, मैने दुनिया भर में शिक्षा, स्वास्थ, तकनीक और अन्य के बारे में लिखने के लिए हिंदी दुनिया वेबसाइट की शुरुआत की। Contact: [email protected]

Leave a Comment

error: Content is protected !!