IIT Kya Hai? Kaise kare? – IIT Full Form in Hindi

4.8/5 - (11 votes)

IIT (Indian Institute of Technology) देश का सबसे प्रतिष्ठित उच्च शिक्षण संस्थान है, जहाँ पर हजारों-लाखों छात्र-छात्राएं इंजीनियरिंग की शिक्षा प्राप्त करते है। देश के बहुत से युवा IIT’s से इंजीनियरिंग करने का सपना देखते हैं, पर आईआईटी संस्थानों में प्रवेश पाना इतना आसान नहीं होता, क्योंकि इसके लिए आपको IIT JEE की प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए आपको इससे जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए जैसे- IIT Kya Hai, और आईआईटी को कैसे करते है?

वे छात्र जो भारत के टॉप इंजीनियरिंग इंस्टिट्यूट से अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहते है उन्हें IIT (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान) में प्रवेश करना होगा तथा जिसके लिए JEE-Mains और JEE-Advance परीक्षा को क्वालीफाई करना होगा। हालांकि बहुत से स्टूडेंट्स ऐसे होते है, जिन्हें IIT एग्जाम एवं IIT Kya Hota Hai के बारे में तो पूरी जानकारी होती, परन्तु उन्हें ये पता नहीं होता कि IIT Ki Taiyari Kaise Karen.

इसलिए आज इस लेख में, मैंनें आपके साथ आईआईटी क्या है (What Is IIT in Hindi), IIT Ka Full Form,  10 वीं के बाद आईआईटी करने के लिए क्या करे, आईआईटी के लिए योग्यता और प्रवेश प्रक्रिया क्या है इसकी सम्पूर्ण जानकारी शेयर की है।

IIT Kya Hai

आईआईटी (IIT) यानि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान को भारत की सबसे प्रतिष्ठित शैक्षणिक इकाई भी कहते है। IIT संस्थानों में इंजीनियरिंग करने वाले छात्रों को उच्च तकनीकी शिक्षा प्रदान की जाती है। भारत का सबसे पहला IIT संस्थान खड़गपुर में सन 1951 में स्थापित किया गया था। वर्तमान में देश 23 आईआईटी संस्थान है, जहाँ पर बीटेक, बीआर्क, एमटेक और पीएचडी जैसे कोर्सेज कराए जाते है।

IIT’s से ग्रेजुएशन यानि स्नातक (बीई, बीटेक) करने के लिए अभ्यार्थियों को IIT-JEE की प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है। आईआईटी संस्थानों से शिक्षित छात्र-छात्राएँ देश-विदेश की बड़ी-बड़ी कम्पनीयों में जॉब प्राप्त करते है। वहीं कुछ छात्र टेक्नोलॉजी और साइंस के क्षेत्र में तरक्की कर रिसर्चर, प्रोफेसर और भी कई बड़े पदों पर कार्य करते है।

ज़रूर पढ़े  – IAS Kaise Bane – आईएएस कैसे बने की पूरी जानकारी।

IIT Kaise Kare

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी यानि IIT से इंजीनियरिंग करने के लिए आपको 12वीं कक्षा अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण करनी होगी, क्योंकि इसके बाद ही आप IIT JEE की प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन कर पाएंगे। IIT JEE की परीक्षा दो भागों में ली जाती है पहला भाग JEE-Mains और दूसरा JEE-Advance

पहले आपको जेईई मेंस का पेपर क्लियर करना होता है, जिसके बाद आप जेईई-एडवांस देने के लिए क्वालीफाई हो जाते है। JEE-Advance की परीक्षा उत्तीर्ण कर लेने के बाद परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर आपको भारत के किसी प्रतिष्ठित आईआईटी संस्थान में प्रवेश मिल जाता है।

IIT Ke Liye Qualification

  • आईआईटी की JEE एग्जाम में शामिल होने के लिए उम्मीदवार की 12वीं कक्षा PCM (फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स) या PCB (फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी) से न्यूनतम 75% अंकों से उत्तीर्ण होना चाहिए, जबकि SC/ST वर्ग के छात्रों को 65% अंक होना चाहिए।
  • JEE Mains एग्जाम में शामिल होने के लिए कोई आयु सीमा नहीं है।

IIT Exam पैटर्न इन हिंदी 2022

जैसा की मैंने आपको ऊपर बताया कि आईआईटी के लिए प्रवेश परीक्षा दो भागों में आयोजित की जाती है:

  1. JEE-Mains
  2. JEE-Advance

JEE-Mains

जेईई-मेंस में दो पेपर लिए जाते है, पहला पेपर B.Tech पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए होता है और दूसरा B.Arch में प्रवेश के लिए। इस परीक्षा में आपकी कक्षा 12वीं बोर्ड या CBSE एग्जाम में अंक काफी अहम भूमिका निभाते है इसलिए अपनी 12वीं की अच्छे से करेंIIT Main Website

Visit JEE – Main Website

JEE-Mains Paper-1 :- (B.Tech के लिए)

जेईई-मेंस पेपर-1 में मैथ्स, फिजिक्स और केमिस्ट्री से वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते है, जिसके लिए 3 घंटे की समय सीमा निर्धारित होती है। वहीं विकलांग अभ्यार्थियों के लिए 1 घंटा अतिरिक्त मिलता है। पेपर में कुल प्रश्नों की संख्या 90 होती है, जिनमें से आपको 75 प्रश्नों को अटेम्पट करना होता है। हर एक सही जवाब देने पर 4 अंक मिलते है जबकि एक गलत जवाब के लिए ¼ नंबर काट लिए जाते है।

सब्जेक्ट प्रश्नों की संख्या निर्धारित अंक
मैथ्स 30 100
फिजिक्स 30 100
केमिस्ट्री 30 100
कुल 90 300

JEE-Mains Paper-2 :- (बी.आर्क के लिए)

जेईई-मेंस पेपर-2 बी-आर्क और बी-प्लानिग के लिए लिया जाता है, जिसमें B.Arch में मैथ्स, एप्टीट्यूड एवं ड्राइंग विषयों से प्रश्न पूछे जाते है। कुल प्रश्नों की संख्या 82 होती है, जिनमें से आपको 77 प्रश्नों को अटेम्पट करना होता है।

सब्जेक्ट प्रश्नों की संख्या निर्धारित अंक
मैथ्स 30 100
एप्टीट्यूड टेस्ट 50 200
ड्राइंग 2 100
कुल 82 400

 

JEE-Mains Paper-2 (बी.प्लानिंग के लिए)

जेईई-मेंस पेपर-2 बी-प्लानिग में मैथ्स, एप्टीट्यूड एवं प्लानिंग विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं, कुल प्रश्नों की संख्या 105 होती है, जिनमें से आपको 100 प्रश्नों को अटेम्पट करना होता है।

 

सब्जेक्ट प्रश्नों की संख्या निर्धारित अंक
मैथ्स 30 100
एप्टीट्यूड टेस्ट 50 200
प्लानिंग 25 100
कुल 105 400

 

JEE-Advance

जेईई मेंस एग्जाम क्लियर कर लेने के बाद आपको जेईई एडवांस का पेपर क्लियर करना होता है। कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाती है। JEE Advanced पेपर में 2 पेपर (पेपर 1 और पेपर 2) होते है जिसमें प्रत्येक पेपर को हल करने के लिए उम्मीदवार को 3 घंटे (PWD के लिए 4 घंटे) का समय दिया जाता है। दोनों पेपर को तीन सेक्शन में बांटा गया है – फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स।

IIT Advance

Visit JEE – Advance Website

पेपर 1:

विषय प्रश्न अंक
फिजिक्स 6 18
केमिस्ट्री 6 24
मैथ्स 6 24

पेपर 2:

विषय प्रश्न अंक
फिजिक्स 6 24
केमिस्ट्री 6 24
मैथ्स 6 18

भारत के विभिन्न आईआईटी कॉलेजों के नाम

भारत में कुल IIT इंस्टिट्यूट की संख्या 23 है जिसमें से सबसे प्रथम आईआईटी की स्थापना 1951 में पश्चिम बंगाल के खड़गपुर में की गयी थी। भारत के टॉप IIT इंस्टिट्यूट में मद्रास IIT सबसे पहली रैंक पर है जबकि दूसरी रैंक पर दिल्ली IIT इंस्टिट्यूट है निचे आपको रैंकिंग के आधार पर भारत के आईआईटी संस्थानों की लिस्ट प्रदान की गयी है –

IIT इंस्टिट्यूट के नाम स्थपना वर्ष स्थान
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर 1951 पश्चिम बंगाल
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे 1958 महाराष्ट्र
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास 1959 तमिलनाडु
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कानपुर 1959 उत्तरप्रदेश
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली 1961 दिल्ली
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गोहाटी 1995 असम
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की 2001 उत्तराखंड
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रोपड़ 2008 पंजाब
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, भुवनेश्वर 2008 उड़ीसा
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गांधीनगर 2008 गुजरात
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद 2008 तेलंगाना
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जोधपुर 2008 राजस्थान
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, पटना 2008 बिहार
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, इंदौर 2009 मध्यप्रदेश
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मंडी 2009 हिमाचल प्रदेश
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, वाराणसी 2012 उत्तर प्रदेश
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, पल्लकड़ो 2015 केरल
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, तिरुपति 2015 आंध्रप्रदेश
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, धनबाद 2016 झारखंड
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, भिलाई 2016 छत्तीसगढ़
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, धारवाड़ 2016 कर्नाटक
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जम्मू 2016 जम्मू कश्मीर
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गोवा 2016 गोवा

IIT Ki Taiyari Kaise Kare

अगर आप भी आईआईटी जेईई प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो आगे मैंने आपको कुछ ऐसे बेहतरीन टिप्स बताए हैं, जो आपकी IIT की तैयारी करने में आपके लिए बहुत हेल्पफुल होंगे।

  • आईआईटी जेईई की परीक्षा में मुख्य रूप से मैथ्स, फिजिक्स और केमिस्ट्री के प्रश्न पूछे जाते है, इसलिए 10वीं के बाद 11वीं और 12वीं कक्षा में इन विषयों पर विशेष ध्यान दें।
  • IIT-JEE के पिछले कुछ वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करें। इससे आप ये समझ पाएंगे कि परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • मॉडल पेपर हल करें अथवा मॉक टेस्ट जरुर लगाएँ और प्रश्नों को हल करने के लिए समय निर्धारित करें।
  • आप चाहें तो कोई अच्छा कोचिंग सेंटर ज्वाइन करके भी परीक्षा की तैयारी कर सकते है। और चाहें तो घर बैठे इंटरनेट की मदद से गूगल और यूट्यूब से भी IIT-JEE एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर सकते है।

आईआईटी की फीस कितनी है?

मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्रालय द्वारा आधिकारिक सुचना के अनुसार IIT 2022 कोर्स की फीस प्रति वर्ष लगभग 2 से 2.5 लाख के करीब आती है। वहीं अगर आरक्षित वर्ग (SC/ST/PH) के लिए आईआईट कोर्स की फीस की बात करें तो वह 2 से 4 लाख रूपये 4 वर्ष के लिए होती है।

ज़रूर पढ़े  – Self Introduction In Hindi – English में अपना परिचय देना सीखे।

IIT और NIT में क्या अंतर है?

  • IIT (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान) इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उच्च शिक्षा प्राप्त के लिए एक स्वायत्त सार्वजनिक संस्थान है। वहीं NIT भी उच्च शिक्षा प्राप्त के लिए एक स्वायत्त सार्वजनिक संस्थान है।
  • IIT MHRD (मानव संसाधन और विकास मंत्रालय) के अंतर्गत आता है, तथा जिसे केंद्र सरकार द्वारा शासित और अनुरक्षित किया जाता है, जबकि NIT राज्य सरकार द्वारा शासित और अनुरक्षित किया जाता है।
  • आईआईटी में प्रवेश JEE MAIN और JEE ADVANCED परीक्षा में स्कोर किये गए अंकों के आधार पर होता है, जबकि एनआईटी  में प्रवेश JEE MAIN एग्जाम में प्राप्त अंकों के आधार पर होता है।

सारांश

उम्मीद है, कि इस लेख माध्यम से आपको IIT Kya Hai in Hindi और IIT Kaise Kare In Hindi से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी। और IIT Me Admission Kaise Hota Hai से जुड़े आपके सभी प्रश्नों के जवाब आपको यहां प्राप्त हुए होंगे। आईआईटी के बारे में जानकारी अगर आपको पसंद आयी हो तो इसे अपने फ्रेंड्स और रिश्तेदारों के साथ भी जरुर शेयर करें, ताकि उन्हें भी यह उपयोगी जानकारी प्राप्त हो सके।

     

मैं 27 वर्ष का सुमित गोविन्द राव, इलाहबाद विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में Ph.D. हूँ और मैने एक वरिष्ठ कॉलेज प्रोफेसर के रूप में 4 वर्ष से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली (IIT दिल्ली) में काम किया है। एक Ph.D. और प्रोफेसर होने के नाते, मैने दुनिया भर में शिक्षा, स्वास्थ, तकनीक और अन्य के बारे में लिखने के लिए हिंदी दुनिया वेबसाइट की शुरुआत की। Contact: [email protected]

Leave a Comment

error: Content is protected !!