Shar Market Kya Hai
Technology

Share Market Kya Hai – शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करे।

5/5 - (1 vote)

शेयर बाजार वह होता है जहां शेयर की खरीद और बिक्री होती है। शेयर उस कंपनी के स्वामित्व की एक इकाई का प्रतिनिधित्व करता है जहाँ से आपने इसे खरीदा था। उदाहरण के लिए आपने ABC कंपनी के प्रत्येक 200 रुपये के 10 शेयर खरीदे, तो आप ABC के शेयरधारक बन गए। इससे आप कभी भी मार्केट में उसके भाव बढ़ने पर आप उन शेयर को बेच सकते है। इस लेख में जाने शेयर मार्केट क्या है (What is Share in Hindi) और शेयर मार्केट में निवेश कैसे करें आदि की पूरी जानकारीै।

शेयरों में निवेश करने से आप अपने सपनों को पूरा कर सकते है जैसे- उच्च शिक्षा, कार खरीदना, घर बनाना, आदि। यदि आप कम उम्र में निवेश करना शुरू करते है और लंबे समय तक निवेशित रहते है, तो वापसी की दर अधिक होगी। जिस समय आपको धन की आवश्यकता होगी, उसके आधार पर आप अपनी निवेश रणनीति की योजना बना सकते है।

Shar Market Kya Hai

Share Market Kya Hai

शेयर बाजार (Share Market) वह बाजार होता है जहाँ पर कंप्यूटर नेटवर्क के जरिये शेयर्स खरीदने और बेचने का कार्य किया जाता है। Share Market से शेयर खरीदने का मतलब होता है उस कंपनी में हिस्सेदार बन जाना। यानि कि जितना पैसा आप उस कंपनी में लगाएंगे, उस प्रतिशत के हिसाब से आप उस कंपनी के मालिक बन जाते हैै। जिससे जब भी कभी भविष्य में कंपनी को मुनाफ़ा होगा, तो आपके लगाए हुए पैसों से दुगना पैसा आपको मिलेगा। और अगर कंपनी के शेयर घटते है तो आपको कुछ भी पैसे नहीं मिलते, बल्कि आपके लगाये हुए पैसे डूब जाते है। मतलब शेयर मार्किट में शेयर का उतार-चढाव होना आम बात होती है।

Types of Share Market

शेयर बाजार को दो में भागों में वर्गीकृत किया गया है:

  • प्राथमिक बाजार (Primary Market)
  • सेकेंडरी मार्केट (Secondary Market)

1. प्राथमिक बाजार (Primary Market)

  • एक कंपनी या सरकार आईपीओ (IPO) की प्रक्रिया द्वारा प्राथमिक बाजार में शेयर जारी करके धन जुटाती है।
  • मुद्दा सार्वजनिक या निजी प्लेसमेंट के माध्यम से हो सकता है।
  • यदि मुद्दा सार्वजनिक है तब शेयरों का आवंटन 200 से अधिक व्यक्तियों को किया जाता है तथा यदि मुद्दा निजी है तब आवंटन 200 से कम व्यक्तियों को किया जाता है।
  • किसी शेयर की कीमत फिक्स्ड प्राइस या बुक बिल्डिंग इश्यू पर आधारित हो सकती है; जारीकर्ता द्वारा निश्चित मूल्य तय किया जाता है और प्रस्ताव दस्तावेज में उल्लेखित किया जाता है; बुक बिल्डिंग वह जगह है जहां निवेशकों की मांग के आधार पर किसी मुद्दे की कीमत का पता लगाया जाता है।

2. सेकेंडरी मार्केट (Secondary Market)

प्राथमिक बाजार में खरीदे गए शेयरों को द्वितीयक बाजार में बेचा जा सकता है। द्वितीयक बाजार काउंटर Over the Counter (OTC) और एक्सचेंज ट्रेडेड मार्केट के माध्यम से संचालित होता है। ओटीसी बाजार अनौपचारिक बाजार है, जिसमें दो पक्ष भविष्य में तय किए जाने वाले विशेष लेनदेन पर सहमत होते है।

एक्सचेंज ट्रेडेड मार्केट अत्यधिक विनियमित होते है। इसे नीलामी बाजार भी कहा जाता है जहां सभी लेनदेन विनिमय के माध्यम से होते है।

शेयर बाजार कैसे काम करता है

क्या आप जानते है की कंपनी अपने शेयर कैसे जारी करती है। कंपनी सबसे पहले अपने शेयर की स्टॉक एक्सचेंज में Listing करवाकर IPO (Initial Public Offering) लाती है और अपनी कंपनी के शेयर अपने निर्धारित किये हुए मूल्य पर पब्लिक को जारी करती है। जब IPO एक बार पूरा हो जाता है तब शेयर मार्केट में आ जाते है और स्टॉक एक्सचेंज और ब्रोकर्स के माध्यम से इन्वेस्टर द्वारा आपस में ख़रीदे और बेचे जाते है। लेकिन जब IPO लाते है तब शेयर की प्राइस कंपनी के द्वारा निर्धारित की जाती है।

परन्तु जब IPO पूरा हो जाता है तब कंपनी के शेयर की प्राइस निर्धारित करने में कंपनी की कोई भूमिका नहीं होती क्योंकि शेयर की कीमत शेयर्स की Demand और Supply के आधार पर स्टॉक एक्सचेंज के द्वारा निर्धारित किये जाते है। अगर ख़रीदे जाने वाले शेयर की तुलना में बेचे जाने वाले शेयर्स की संख्या अधिक होगी तो शेयर की कीमत बढ़ेगी। और जब बेचे जाने वाले शेयर की तुलना में ख़रीदे जाने वाले शेयर्स की संख्या कम होगी तो शेयर की कीमत कम होगी।

Sensex Share Price

सेंसेक्स एक प्रकार का सूचकांक (index) है जिसे स्टॉक एक्सचेंज भी कहा जाता है। सेंसेक्स हमारे भारतीय स्टॉक मार्केट का बेंचमार्क इंडेक्स है जो की BSE (Bombay Stock Exchange) में लिस्टेड शेयर्स के भाव में होने वाली तेजी और मंदी को बताता है। इसके जरिये आपको इसमें लिस्टेड 30 सबसे बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन की जानकारी प्राप्त होती है और यह भारत का सबसे पुराना शेयर मार्केट है।

Share Market में पैसे कैसे Invest करें

शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने या शेयर खरीदने के लिए सबसे पहले आपके पास डीमैट अकाउंट (Demat Account) होना बहुत ज़रुरी है। डीमैट अकाउंट आप अपने नज़दीकी बैंक या ब्रोकर के पास जाकर बनवा या ओपन करवा सकते है। क्योंकि Demat Account में ही शेयर के सारे पैसे रखे जाते है। अगर आप शेयर बाजार में इन्वेस्ट करना चाहते है तो आपका डीमैट अकाउंट होना बहुत ज़रुरी है। क्योंकि जब भी कंपनी को मुनाफ़ा होता है तो उसके सारे पैसे उसी खाते में ही आते है। डीमैट अकाउंट आपके बचत खाते (Saving Account) से लिंक रहता हैै। आप चाहे तो डीमैट अकाउंट से अपने पैसे अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते है।

सारांश

तो दोस्तों ये थी हमारी आज की पोस्ट जिसमें हमने आपको Share Market in Hindi के बारे में विस्तार से समझाया, हमे उम्मीद है कि हमने आपको शेयर मार्केट के बारे में पूरी जानकारी दी होगी। अगर आपको हमारी पोस्ट में कोई भी परेशानी हो तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है। साथ ही आप हमारी पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे, ताकि वे भी इसके बारे में जानकारी प्राप्त करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status